You are currently viewing एंटी एजिंग क्रीम कब लगाना चाहिए? जानें सही उम्र और लगाने का तरीका

एंटी एजिंग क्रीम कब लगाना चाहिए? जानें सही उम्र और लगाने का तरीका

एंटी-एजिंग क्रीम का इस्तेमाल करने से बढ़ती उम्र के लक्षण कम किए जा सकते हैं। आइए जानते हैं एंटी एजिंग क्रीम कब लगाना चाहिए?

स्किन के हिसाब से स्किन केयर रुटीन को फॉलो करना चाहिए। हर उम्र और परिस्थिति में स्किन की जरूरत अलग-अलग होती है। ऐसे में स्किन पर स्किन केयर प्रोडक्ट का इस्तेमाल करने से पहले यह जरूर चेक करें कि क्या आपकी स्किन इस प्रोडक्ट के लायक है? खासतौर पर अगर आप एंटी एजिंग क्रीम लगाने की शुरुआत कर रहे हैं, तो पहले यह जरूर जानें कि किस उम्र में एंटी एजिंग प्रोडक्ट या फिर क्रीम का इस्तेमाल करना चाहिए। ताकि आपकी स्किन को भरपूर रूप से पोषक मिल सके। क्योंकि कुछ लोगों को लगता है कि उनकी स्किन अभी बहुत अच्छी है, इसलिए एंटी-एजिंग की जरूरत नहीं है। लेकिन ऐसा नहीं है, एक उम्र के बाद खासतौर पर महिलाओं को एंटी-एजिंग का इस्तेमाल करना चाहिए। आज हम इस लेख में एंटी एजिंग प्रोडक्ट लगाने की सही उम्र बताने जा रहे हैं? आइए विस्तार से जानते हैं इस बारे में-

एंटी एजिंग क्रीम कब लगाना चाहिए? :-

किसी भी समस्या से बचाव के लिए जरूरी है कि उससे रोकथाम किया जाए। हम में से कई ऐसे लोग हैं, जो बीमारी होने के बाद उसका इलाज करते हैं। लेकिन ऐसा नहीं है अगर आप बीमारी से बचने के लिए पहले से ही रोकथाम अपनाते हैं, तो आप बीमारी से बच भी सकते हैँ। साथ ही अगर किसी कारणवश आप उस समस्या की चपेट में आ जाएं, तो उससे तुरंत निपटारा भी हो सकता है।  इसलिए समस्या होने के बाद हल न खोजें, बल्कि उस समस्या से बचाव करें। ठीक यही रुल एंटी -एजिंग क्रीम लगाने की उम्र पर लागू होता है।

कुछ लोग का मानना है कि उनकी स्किन पर किसी तरह की झुर्रियां या फाइन लाइंस नहीं है, तो उन्हें एंटी एजिंग क्रीम लगाने की जरूरत नहीं है। लेकिन ऐसा नहीं है अगर आप पहले से ही झुर्रियों से बचाव के लिए एंटी एजिंग क्रीम का इस्तेमाल करते हैं, तो बढ़ती उम्र में आपको इस तरह की परेशानी नहीं होगी।

एंटी एजिंग प्रोडक्ट न सिर्फ झुर्रियों से बचाव करता है। बल्कि यह सूर्य की हानिकारक किरणों से भी आपकी स्किन की सुरक्षा करता है। इसलिए एंटी-एजिंग क्रीम स्किन बूढ़ा होने का बाद न लगाएं। बल्कि समय से पहले स्किन को बूढ़ा होने से बचाने के लिए लगाएं।

एजिंग की शुरुआत 30 की उम्र में हो जाती है। ऐसे में इस उम्र में एंटी एजिंग लगाना शुरू कर देना चाहिए। हां, लेकिन आप चाहें तो इससे पहले यानि 25 के बाद भी एंटी-एजिंग क्रीम लगाने की शुरुआत कर सकते हैं। ताकि एजिंग की परेशानियों से बचाव किया जा सके। इससे आपकी स्किन जवां दिखेगी। साथ ही बढ़ती उम्र के अन्य लक्षण भी चेहरे पर नजर नहीं आएगा।
स्किन पर कैसे काम करती है एंटी एजिंग क्रीम ?

स्किन खुद ब खुद कुछ दिनों में खुद को रिन्यू करता है। यानि आपकी डेड स्किन या स्किन के पुराने सेल्स हटकर नए सेल्स बनते हैं। इसे स्किन सेल्स की लाइफ-साइकल कहते हैं। बढ़ती उम्र में स्किन सेल्स की लाइफ-साइकल धीमी पड़ने लगती है। ऐसे में एंटी-एजिंग क्रीम स्किन की डेड सेल्स को हटाने और उन्हें पोषक प्रदान करने का कार्य करती है, जिससे आपकी स्किन सेल्स की लाइफ साइकल पर असर नहीं पड़ता है। साथ ही आपकी स्किन को डल होने से बचा सकता है।

कैसे करें एंटी एजिंग का इस्तेमाल ?

एंटी एजिंग क्रीम का इस्तेमाल रात में करने से आपको बेहतर रिजल्ट प्राप्त होता है। इसलिए कोशिश करें कि हमेशा रात के समय एंटी-एजिंग क्रीम या फिर अन्य प्रोडक्ट लगाएं। एंटी एजिंग प्रोडक्ट लगाने के लिए सबसे पहले चेहरे को मेकअप रिमूवर से साफ कर लें। फिर क्लिंजर से चेहरे की अच्छी से सफाई करें। अगर आप चाहे तो फेस वॉश भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

इसके बाद चेहरे को अच्छे से सूखने दें। फिर स्किन को हाइड्रेट करने के लिए लोशन या फिर फेस ऑयल लगाएं। इसके बाद अपने चेहरे पर एंटी एजिंग क्रीम लगाएं। फिर हल्के हाथों से अपवर्ड (नीचे से ऊपर की ओर)  मसाज करें। करीब पांच मिनट तक चेहरे की मसाज करें। इससे आपको काफी लाभ मिलेगा।

DR.MANOJ DAS
EMAIL :- support@lewisiawellness.com
MOBILE :- 9358113466