एलोवेरा (घृतकुमारी) के फायदे, उपयोग

वजन कम करने के लिए  एलोवेरा जूस का सेवन किया जाए, तो कुछ हद तक मोटापे की  परेशानी से छुटकारा मिल सकता है।

कब्ज के लिए कब्ज की स्थिति में एलोवेरा का रस फायदेमंद हो सकता है। एलोवेरा में लैक्सेटिव गुण (Laxative – पेट साफ करने का गुण) मौजूद होता है

मधुमेह के लिए एलोवेरा का सेवन करने से टाइप 2 डायबिटीज से ग्रस्त मरीज का ब्लड शुगर लेवल कुछ हद तक संतुलित हो सकता है।

पाचन क्रिया के लिए पाचन संबंधी समस्याओं के लिए एलोवेरा जूस का सेवन किया जा सकता है

कोलेस्ट्रॉल के लिए एलोवेरा का सेवन कोलेस्ट्रॉल के लिए भी लाभकारी हो सकता है। एलोवेरा में मौजूद हाइपोकोलेस्ट्रोमिक प्रभाव (Hypocholesterolemic Effect – कोलेस्ट्रॉल को कम करने वाला गुण) कोलेस्ट्रॉल को कम करने में सहायक हो सकता है

मस्तिष्क स्वास्थ्य के लिए एलोवेरा के फायदे की अगर बात की जाए तो यह मस्तिष्क स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद हो सकता है।

हृदय रोग से बचाव के लिए एलोवेरा का सेवन हृदय रोग के जोखिम को कम कर सकता है। एलोवेरा एथेरोस्क्लेरोसिस (Atherosclerosis – धमनियों में प्लाक का जमने की बीमारी) को रोकने में मदद कर सकता है

सूजन के लिए एलोवेरा सूजन की परेशानी को कम करने में भी सहायक हो सकता है। दरअसल, इसमें एंटी-इन्फ्लेमेटरी गुण होते हैं, जिस कारण यह सूजन पर प्रभावकारी हो सकता है।

गठिया के लिए एलोवेरा में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण मौजूद होने के कारण इसका उपयोग जोड़ों के दर्द के लिए फायदेमंद हो सकता है

मुंह के स्वास्थ्य के लिए मुंह में बीमारी पैदा करने वाले बैक्टीरिया को खत्म करने के लिए एलोवेरा का उपयोग किया जा सकता है।

घाव भरने के लिए यह फाइब्रोब्लास्ट्स (कोशिकाएं जो कोलेजन का उत्पादन करती हैं) के प्रसार में सुधार कर घाव भरने की प्रक्रिया को तेज कर सकता है

रोग प्रतिरोधक क्षमता के लिए एलोवेरा इम्यून बूस्टर की तरह भी काम कर व्यक्ति को स्वस्थ रखने में मदद कर सकता है

त्वचा को मॉइस्चराइज करने के लिए त्वचा को मॉइस्चराइज करने में भी एलोवेरा जेल फायदेमंद हो सकता है। यह त्वचा को हायड्रेट करने में और त्वचा के लिए हुमेक्टैंट यानी मॉइस्चर को बरकरार रखने में मदद कर सकता है।

झुर्रियों के लिए झुर्रियों के लिए एलोवेरा जेल एक अच्छा प्राकृतिक उपचार हो सकता है। यह कोलेजन (Collagen – त्वचा में पाया जाने वाला प्रोटीन) उत्पादन को बढ़ाने के साथ-साथ त्वचा की इलास्टिसिटी में भी सुधार करने में मदद कर सकता है