img

सेल्फ कॉन्फिडेंस कैसे बढ़ाए 8 प्रभावी टिप्स

सेल्फ कॉन्फिडेंस का मतलब होता है “आत्मविश्वास” या आसन शब्दों में हम कह सकते हैं कि सेल्फ कॉन्फिडेंस का मतलब होता है अपने आप पर भरोसा करना। आत्मविश्वास में सुधार करने से हम चांस लेना सीख पाते हैं या जितने ज्यादा चांस हम लेंगे उतनी जल्दी हम सक्सेस की राह पर चल पाएंगे! तो आइए जानते हैं कि सेल्फ कॉन्फिडेंस कैसे बढ़ाए।

टिप्स की या बढ़ाने ए पहले आए जाने की कम आत्मविश्वास की वजह से हमको क्या चुनौतियों का सामना करना पड़ता है



सेल्फ कॉन्फिडेंस की कमी की वजह से हम :- अपने संदेह दूर नहीं कर पाते, जिस कारण से हमेशा भ्रम बनी रहती है।

जैसे की – क्लास में कोई चीज़ न समझ पे दुबारा न पुछ पाना।

उन चीजों को मांग नहीं पाते जिन्की हमको जरूरत होती है, क्योंकि हमको लगता है कि हम उनके लायक नहीं होते।

जैसे की – जड़ मेहनत करने के बाद भी सैलरी में इंक्रीमेंट के लिए ना बोल पाना।

फीडबैक को खुले तौर पर स्वीकार नहीं कर पाते जिसकी वजह से हमारी अच्छी ग्रोथ नहीं हो पाती ।

जैसे की – अगर मीटिंग में किसी ने आपसे अलग पॉइंट रखा तो आप चर्चा करने के बजाए ये सोचने लगते हैं कि हमने ऐसा क्यों नहीं सोचा या हम स्मार्ट नहीं हैं।

अपने करियर में आगे नहीं बढ़ पाते, क्योंकि हमको खुद पर या खुद के फैसले पर बहुत ज्यादा संदेह रहते हैं।

जैसे की – अगर राम की सिंगिंग अच्छी है या उसका मन है इसमें आगे जाने का लेकिन उसके पेरेंट्स यूज़ इंजीनियर बनने के लिए बोल रहे हैं। तो वो लो सेल्फ कॉन्फिडेंस की वजह से अपने मन की ना सुन के दुसरो की बात सुनेगा।

ऐसी या कई समस्याएं हैं जो हम कम आत्मविश्वास की वजह से चेहरा करते हैं। और इन सब प्रॉब्लम की वजह से ये जाना और भी जरूरी है कि सेल्फ कॉन्फिडेंस कैसे बढ़ाए..
आत्मविश्वास में सुधार करना एक ऐसा विषय है जिस में हर एक इंसान जिंदगी में कभी न कभी तो संघर्ष करता ही है। कुछ लोग ज्यादा संघर्ष करते हैं या कुछ लोग कम, ऐसा इसलिए होता है क्योंकि कुछ ऐसे फैक्टर होते हैं जिनहे वो खुद बचपन से कंट्रोल नहीं कर सकते जैसे उनकी सोसाइटी, उनका फैमिली एनवायरनमेंट आदि।
लेकिन एक ताजुब की बात तो ये है कि जो लॉग स्टार्टिंग मी सेल्फ कॉन्फिडेंस इम्प्रूव करने में ज्यादा स्ट्रगल करते हैं वो आगे चलके बहुत ज्यादा सेल्फ कॉन्फिडेंस बन जाते हैं!

इसलिए आपको डरने की जरूरत नहीं है, आए आज हम कुछ ऐसी टिप्स की बात करेंगे जो आपको आपका सेल्फ कॉन्फिडेंस इम्प्रूव करने में मदद करेंगे। तो जानते हैं कि सेल्फ कॉन्फिडेंस कैसे बढ़ाए

अपना सेल्फ कॉन्फिडेंस कैसे बढ़ाए

1. अपना सोचने का नज़रिया बदलिए
सेल्फ कॉन्फिडेंस में कामी का एक सबसे बड़ा कारण ये होता है कि हम जब भी दूसरे से बात करते हैं तो हम सामने वाले इंसान को एक बहुत उपरी डर दे देते हैं, हम ऐसा सोचते हैं कि वो हमसे कई जादा क्वालिफाइड है या हम जो भी बोलेंगे वो बेवक़ूफ़ लागेगा।

ऐसे समय पे हमको ये याद रखना चाहिए कि सामने वाला व्यक्ति भी एक इंसान ही है। आप उनकी नॉर्मल और बेसिक डेली एक्टिविटीज के बारे में बताएं, जैसे वो भी खाना खाते होंगे, वो भी टीवी देखते होंगे वगैरह। ये साड़ी चीज तो आप भी करते हैं, इसका मतलब आप में ज्यादा डिफरेंस तो है नहीं।
हलकी ये एक्टिविटी सुनाने में बचपनी जरूर लगती है लेकिन ये नर्वसनेस को कम करने में काफी हेल्प करती है।



2. अपने व्यक्तित्व विकास पर काम करिए :- पर्सनालिटी को डेवलप करना या सेल्फ कॉन्फिडेंस इम्प्रूव करना है, ये दोनो चीज साथ-साथ चलती है। जब आपकी पर्सनैलिटी, जैसा आपका बोलने का एक्सेंट, आपका चीज को लेकर एटीट्यूड और नजरिया, आपका सोचने का पैटर्न, आपके ओपिनियन आदि। बदल वैसा ही वैसा आपको चीज या भी जड़ नॉर्मल लगने लगेगा। आपका लोगो से, समाज से नर्वस होना कम होगा जिससे आपका आत्मविश्वास सुधरेगा!

3. अपनी ग्रूमिंग पर ध्यान दें :- अब आप ये सोच रहे होंगे कि सेल्फ कॉन्फिडेंस इम्प्रूवमेंट जैसे इनसाइड फीलिंग का बाहरी लुक से क्या लेना देना है?

वास्तव में दोनों का आपस में काफी महत्वपूर्ण कनेक्शन है, यहां तक ​​कि रिसर्च में भी ये साबित होता है कि चूका है कि एक ग्रूम्ड पर्सन के अंदर अपने आप सेल्फ कॉन्फिडेंस बढ़ाने वाला लगता है।

चाहे हम ये बात स्वीकार करें या ना करें, पर्सनल हाइजीन बिलकुल मैटर करती है, चाहे बात आपके नाखून, बाल, दांत, उंगलियां, चेहरा आदि। किसी की भी हो, हमेशा सेल्फ मेंटेनेंस पर ध्यान दे।

4. अपनी कम्युनिकेशन स्किल्स अच्छे करिए :- कम्युनिकेशन स्किल्स का मतलब होता है बात चीट का सही तरीका। कभी-कभी हम किसी से बात करते समय कुछ गलत बोल देते हैं, या हमको अपनी बात बोलने के लिए सही शब्द नहीं मिलते और इंसब की वजह से हमें लगता है कि हमसे कोई काम नहीं हो सकता या हमारा आत्मविश्वास सुधरने की जगह या भी जड़ नीचे हो जाता है।

5. अपना आत्मविश्वास कैसे बढ़ाए – लोगो से बात करने की आदत डालना शुरू करें :-
ये पॉइंट भी ऊपर दिए गए पॉइंट से ही संबंधित है, दो चीज आपस में इंटरकनेक्टेड है। आपका सिर्फ कम्युनिकेशन के बारे में जानना ही काफी नहीं है, इसको लागू करना भी बहुत जरूरी है। आप अपना आत्मविश्वास तभी सुधार सकते हैं या अपनी झिझक को तब ही हटा सकते हैं जब आप लोगो के बीच में शामिल होना शुरू करेंगे।

शुरुआत के लिए आप अपने निजी दोस्त या परिवार के सदास्यो के साथ थोड़ी देर तक बात करने की आदत डालें। अकेला रहने को थोड़ा अवॉइड करें, इसे धीरे-धीरे आप लोगो के बीच में आरामदायक महसूस करने लगेंगे।

  1. डर लगने पर भी रुके नहीं :- हम सबके साथ एक चीज बड़ी ही आम है कि हम जब भी कोई बड़ा काम करना शुरू करने वाले होते हैं हमको इस बात का डर लगता है कि कहीं हम वो काम खराब न करदे, कहीं हमसे कोई गलती न हो जाए। ऐसा लगना बड़ा ही प्राकृतिक है। लेकिन! कुछ लोग इसी डर की वजह से वो काम करते ही नहीं है, वो कोशिश भी नहीं करते हैं, जिसका ये डर कभी दूर नहीं हो पाता।

    ये कुछ इस तरह का लूप बन जाता है-हमको इसी लूप को तोड़ना है। इसे आपको चाहें जितने भी डर लगे, आप तब भी हमें टास्क पूरा करें, हमेशा इस चीज को ध्यान में रखें कि अगर ये टास्क अच्छे से हो गया तो आगे हमको ऐसा कोई भी टास्क करने में इतना डर ​​नहीं लगेगा या हम सेल्फ कॉन्फिडेंट फील कर पाएंगे।
  2. अपने मन में अपनी अच्छी छवि बनाएं :- काफी जादा लोग इस गतिविधि को महत्वपूर्ण है ना समझ के इसको देखे कर देते हैं या इसमें कोई गंभीर काम नहीं करते। ऐसा बिलकुल भी नहीं करना चाहिए क्योंकि आप खुद पर विश्वास तभी कर पाएंगे जब आपके मन में आपकी इमेज अच्छी होगी। आयिए देखे की खुद की छवि अपने मन में कैसे सुधार करें-अपने आपको दूसरों से तुलना करना बंद करें।
  • अपनी गलतियों को अपना कर उससे सीख ले, नकी खुद को डाउन फील कराएं।
  • अपनी गलतियों को लेकर ओवरथिंक न करें।
  • अपनी उपलब्धियों को याद करें।
  • अपने आप से कभी झूठ ना बोले।

हर चीज पूरी तरह से करने के चक्कर में ना रहे। कभी-कभी “गुड-एनफ” के साथ भी खुश रहे।



8. अपने आपको नकारात्मकता से दूर रखे या सकारात्मक विचारों की तरफ ले जाए

क्योंकि हम लोग बात कर रहे हैं अपने मन में खुद की अच्छी छवि बनाने की, तो नकारात्मकता से तो दूर रहना ही पड़ेगा! चाहे कोई इंसान हो जो आपको लेट डाउन फील करता हो, कोई ऐसी मेमोरी हो, कोई ऐसा काम हो जहां से आपके जीवन में नेगेटिविटी आती है तो उससे बिलकुल दूर बना ले!

मोटिवेट रहने के लिए अलग-अलग एक्टिविटीज स्टार्ट करें, जैसे की-

प्रेरक वीडियो देखना

कोई प्रेरक पुस्तक पढ़ना

सपोर्टिंग फ्रेंड्स या फैमिली मेंबर्स से बात करना आदि

आशा करते हैं कि आपने जाना होगा कि सेल्फ कॉन्फिडेंस कैसे बढ़ाए। तो आज से ही अपने सेल्फ कॉन्फिडेंस के इम्प्रूवमेंट के ऊपर काम करना शुरू करें!

DR.MANOJ DAS
EMAIL : – [email protected]
MOBILE :- 9358113466

 

Welcome to

My Rewards

Become a member

Join our loyalty program to unlock exclusive perks and rewards.

Ways to earn

Powered by WPLoyalty

Cart

No products in the cart.