471058778-H

स्ट्रेच मार्क्स हटाने के उपाय

क्या आप क्रॉप टॉप पहनने से पहले दस बार सोचती हैं? क्या आप साड़ी पहनने के बाद अपनी कमर और पेट को लेकर ज्यादा सचेत रहती हैं? क्या यह स्ट्रेच मार्क्स शर्मिंदगी का कारण बन रहे हैं? अगर ऐसा है, तो यह लेख रिडर्स की मदद कर सकता है। स्ट्रेच मार्क्स के निशान खास और अलग तरह के कपड़े पहनने की आजादी छीन लेते हैं।यहां हम स्ट्रेच मार्क्स हटाने का तरीका बताने के साथ ही स्ट्रेच मार्क्स ट्रीटमेंट और कुछ फेमस स्ट्रेस मार्क्स हटाने की क्रीम के बारे में भी बताएंगे। लेख में आगे बढ़ने से पहले रिडर्स जान लें कि बताए गए घरेलू उपाय स्ट्रेच मार्क्स के उपचार में वैकल्पिक रूप से सहायक हो सकते हैं। इन्हें इस समस्या का इलाज न समझा जाए।


:-चलिए, सबसे पहले स्ट्रेस मार्क्स के कारण जान लेते हैं।

  • बढ़ती उम्र
  • गर्भावस्था
  • मोटापा
  • कोर्टीसोन स्किन क्रीम (Cortisone Skin Creams) का अधिक उपयोग। यह एक प्रकार की स्टेरॉयड युक्त क्रीम होती है, जिसका उपयोग खुजली व सूजन के लिए किया जाता है।
  • युवावस्था व किशोरावस्था (Puberty)

:-कुछ बीमारियां और दवाओं की वजह से भी स्ट्रेच मार्क हो सकते हैं

  • ऐसी दवाएं जो कोलेजन को बनने से रोकती हैं।
  • कुशिंग सिंड्रोम (Cushing Syndrome) यानी कोर्टिसोल हार्मोन का उच्च स्तर।
  • मार्फन सिंड्रोम, मतलब कनेक्टिंग टिश्यू संबंधी आनुवंशिक विकार।
  • एनोरेक्सिया नर्वोसा (Anorexia Nervosa)। खाना कम खाने वाला मनोवैज्ञानिक और खाने का विकार।
  • एहलर्स-डानलोस सिंड्रोम (Ehlers-Danlos syndrome)। ऐसा विकार जिसमें त्वचा में ज्यादा खिंचाव आ जाता है और त्वचा आसानी से छिल जाती है।
  • बुखार

    :- स्ट्रेच मार्क्स कम करने के लिए घरेलू उपाय

    1. एलोवेरा
    कैसे लाभदायक है:

    स्ट्रेच मार्क्स हटाने के घरेलू उपाय में एलोवेरा को भी शामिल किया जा सकता है। एनसीबीआई (National Center for Biotechnology Information) में मौजूद एक अध्ययन में एलोवेरा युक्त क्रीम को स्ट्रेच मार्क्स और इसकी वजह से होने वाली खुजली को कम करने में लाभदायक माना गया है। वहीं, एलोवेरा जेल का सीधा उपयोग भी खिंचाव के निशान कम करने में मदद कर सकता है। दरअसल, एलोवेरा में एंटी-इन्फ्लामेटरी गुण होता है, जो खुजली से राहत दे सकता है। साथ ही इसमें मौजूद हीलिंग गुण कोलेजन को बढ़ाने का काम करता है । स्ट्रेच मार्क्स ट्रीटमेंट में कोलेजन को बढ़ाया जाता है । वहीं, विटामिन-ई त्वचा को मॉइचराइज करके स्ट्रेच मार्क्स को कम करने में मदद कर सकता है । इसी वजह से माना जाता है कि एलोवेरा स्ट्रेच मार्क्स ठीक करने में मदद कर सकता है ।

    2. अरंडी का तेल: 

    कैसे लाभदायक है:

    अरंडी का तेल यानी कैस्टर ऑयल की मालिश को भी स्ट्रेच मार्क को कम करने में लाभदायक माना गया है। यह त्वचा को मॉइस्चराइज भी करता है। इसका नियमित इस्तेमाल करने से स्ट्रेच मार्क को कुछ हद तक कम किया जा सकता है । बेहतर परिणाम के लिए अरंडी के तेल का उपयोग रोजाना दो बार किया जा सकता है।



    • क्लिंग रैप की मदद से कवर करें और रातभर छोड़ दें।

    इसे हर रात दोहराया जा सकता है।
    विक्स वेपोरब में कुछ खास एसेंशियल ऑयल मौजूद होते हैं। साथ ही इसमें पेट्रोलियम जेली
    3. विक्स वेपोरब 

    रात को स्ट्रेच मार्क्स पर विक्स लगाएं और एक या दो मिनट तक मालिश करें।

    • क्लिंग रैप की मदद से कवर करें और रातभर छोड़ दें।

    इसे हर रात दोहराया जा सकता है।
    विक्स वेपोरब में कुछ खास एसेंशियल ऑयल मौजूद होते हैं। साथ ही इसमें पेट्रोलियम जेली भी होती है । यह सब त्वचा को मॉइस्चराइज करने और उसे नरम बनाने में मदद करते हैं। शायद इसी वजह से माना जाता है कि यह स्ट्रेच मार्क्स को ठीक करने में मदद कर सकता है। हालांकि, इसको लेकर कोई भी शोध उपलब्ध नहीं है। वैसे कई महिलाएं अनुभव के आधार पर भी इसका उपयोग करती हैं।

  • 4. बादाम का तेल: 
    बादाम के तेल में अपने पसंदीदा एसेंशियल ऑयल की कुछ बूंदें मिलाएं।
  • फिर इसे कुछ सेकंड के लिए गरम करें और खिंचाव के निशान पर हल्के हाथों से मालिश करें।
  • रोज इसे दिनभर में दो बार दोहराएं।
    स्ट्रेच मार्क्स को कम करने के लिए किया जा सकता है। यह रुखी त्वचा को नमी देने के साथ ही स्किन पर मौजूद निशान को कम करके, त्वचा में होने वाली खुजली से राहत पहुंचा सकता है। दरअसल, इसमें एंटी-इंफ्लामेटरी गुण पाया जाता है, जो खुजली दूर करने में कुछ हद मदद कर सकता है । यूएस नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन की एक रिसर्च में यह पाया गया कि गर्भावस्था के दौरान बादाम के तेल से 15 मिनट की मालिश करने से स्ट्रेच मार्क (Striae Gravidarum) को बढ़ने से रोका जा सकता है। हालांकि, यह प्रभाव  बिटर आल्मंड ऑयल के इस्तेमाल करने पर नहीं पाया गया । शायद इसी वजह से कई मार्केट में उपलब्ध स्ट्रेच मार्क्स को ठीक करने वाले प्रोडक्ट्स में स्विट आल्मंड ऑयल का इस्तेमाल किया जाता है । बादाम तेल को लेकर किए गए अन्य शोध में बिटर आल्मंड ऑयल को भी स्ट्रेच मार्क कम करने के लिए प्रभावकारी माना गया है ।

    5. नींबू

    कैसे लाभदायक है:

    नींबू स्ट्रेच मार्क्स को कम करने के आसान तरीकों में से एक है। इसमें विटामिन-सी मौजूद होता है, जो स्ट्रेच मार्क्स को कम करने का काम कर सकता है । दरअसल, विटामिन-सी कोलेजन के उत्पादन को बढ़ाने में मदद करता है । कोलेजन का उत्पादन बढ़ने से स्ट्रेर्च मार्क्स ठीक होने में मदद मिलती है। इसी वजह से नींबू का उपयोग भी स्ट्रेच निशान हटाने के उपाय की तरह किया जाता है।

    6. विटामिन-ई ऑयल 

    • स्ट्रेच मार्क्स पर सीधे विटामिन-ई ऑयल लगा लें।
    • ऑयल न हो, तो विटामिन-ई की कैप्सूल का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।
    • इसे 10 मिनट तक लगा रहने दें, फिर गुनगुने पानी से धोकर मॉइस्चराइजर लगा लें।
    • हर रोज एक से दो बार इसे लगाएं।
    कैसे लाभदायक है:

    स्ट्रेच मार्क्स हटाने के उपाय में विटामिन-ई ऑयल, कैप्सूल और क्रीम को भी काफी लाभकारी माना जाता है। शोध के अनुसार, विटामिन-ई युक्त कई सारी क्रीम को स्ट्रेच मार्क्स को कम करने, फैलने से रोकने और बचाव के लिए बेहतर पाया गया है । इसके साथ ही स्ट्रेच मार्क्स को कुछ हद तक कम करने के लिए मॉइस्चराइजर भी जरूरी होता है। विटामिन-ई शरीर में बतौर मॉइस्चराइजिंग एजेंट काम करता है । साथ ही यह स्किन की इलास्टिसिटी को बेहतर करता है और कोलेजन के उत्पादन को बढ़ावा देता है । इसी वजह से माना जाता है कि स्ट्रेच निशान हटाने के उपाय में विटामिन-ई ऑयल को शामिल किया जाना चाहिए।

    7. जोजोबा ऑयल

    कैसे लाभदायक है:

    जोजोबा ऑयल को बेहतरीन मॉइस्चराइजर माना जाता है। साथ ही इसका उपयोग स्ट्रेच निशान को हटाने के उपाय के रूप में भी किया जाता है। मिस्र में हुए एक शोध में भी इसका जिक्र किया गया है। इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण भी होता है, जिसे स्ट्रेच मार्क्स ट्रीटमेंट के लिए जरूरी माना जाता है। साथ ही इसमें हीलिंग गुण भी होता है, जो निशान को कम करने में मदद कर सकता है । इसी वजह से जोजोबा ऑयल को स्ट्रेच मार्क्स हटाने के उपाय में गिना जाता है। इसका उपयोग स्ट्रेच मार्क्स को बढ़ने से रोक सकता है। बस जरूरी है तो स्ट्रेच निशान दिखते ही इसका इस्तेमाल करने की।



    8. आर्गन ऑयल
    आर्गन ऑयल बड़े पैमाने पर कॉस्मेटिक्स उत्पादों में उपयोग किया जाता है। एनसीबीआई की वेबसाइट पर मौजूद एक अध्ययन के मुताबिक आर्गन ऑयल में विटामिन-ई होता है, जो एंटीऑक्सीडेंट की तरह काम करता है। यह स्किन इलास्टिसिटी को बनाए रखने के साथ ही फाइब्रोबलास्ट और कोलेजन के उत्पादन को बढ़ावा देता है । स्ट्रेच मार्क्स कैसे हटाए, अगर यह सवाल मन में आए, तो आर्गन ऑयल इसका सही जवाब हो सकता है। अगर स्ट्रेच मार्क्स के शुरुआत में इस तेल का उपयोग किया जाए, तो इसका अच्छा असर स्ट्रेच मार्क्स पर देखा जा सकता है। इसका इस्तेमाल कई स्ट्रेच मार्क्स ट्रीटमेंट क्रीम से भी किया जाता है ।

NAME – DR.MANOJ DAS
EMAIL – [email protected]
MOBILE – 9358113466

 

Welcome to

My Rewards

Become a member

Join our loyalty program to unlock exclusive perks and rewards.

Ways to earn

Powered by WPLoyalty

Main Menu